×
×

सोशल सहेली - महिला उद्यमियों की ओर एक कदम

हम कौन हैं ?

सोशल सहेली एक मात्र ऐसा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जो स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिला सदस्यों की आवाज़ को अपने मंच के ज़रिये लोगों तक पहुँचाता है | सहेलियाँ उन स्थानीय महिलाओं को चिन्हित करके नए कौशल में प्रशिक्षण देती हैं जो ,अपने उत्पाद या व्यवसाय को बढ़ने के लिए नए अवसर की खोज में होती हैं | यह उद्यमी महिलाए डिजिटल मीडिया द्वारा अपनी व्यवसाय शुरू करने की कहानी को सोशल सहेली के माध्यम से अन्य महिलाओं को बताती हैं और उन्हें प्रेरित करती हैं |

हम क्या करते हैं ?

सोशल सहेली स्वयं सहायता समूह से जुड़ीं महिलाओं को एक साथ लाने के साथ ही उनको मोबाइल टेक्नोलॉजी को बेहतर तरीके से इस्तेमाल करना सिखाती हैं। अपनी कहानियों को दुनिया के संग बाँटने के साथ-साथ उनमें आत्मविश्वास जगाने में भी कार्य करता है |

हम यह कैसे करते हैं?

स्वयं सहायता समूह से जुड़ीं महिलाओं के अंदर अपना व्यवसाय करने का सपना होता है। उस सपने की कहानी सब तक पहुँचाना ज़रूरी है, ये बात महिलाओं को समझायी जाती है। सोशल सहेली उन सपनो के बीज बोने में महिलाओं की मदद करता हैं और अपने व्यवसाय का विस्तार करने और बेहतर बनाने के लिए सोशल सहेली उनका कौशल में वृद्धि कर उन्हें ऑनलाइन टेक्नोलॉजी को उपयोग करने में सहायता करता है |

स्वयं सहायता समूह ही क्यूँ ?

स्वयं सहायता समूह एक १०-२० स्थानीय महिलाओं एवं पुरुषों का समूह होता है| समूह के सदस्यों की आयु १८-४० वर्ष होती है| अनौपचारिक तरीके से बना ये समूह अपने सभी सदस्यों के जीवन स्तर में निरंतर नए सुधार लाता है | समूह स्वाधीन होता है और समूह का हर कार्य उनके चुने हुए सदस्य द्वारा नियंत्रित होता है |

स्वयं सहायता समूह कैसे नए व्यवसाय को जन्म देता है ?

SHG मॉडल समूह की महिलाओं को व्यस्त रखने के साथ-साथ हर उस घर बेठी महिला को एक कम साधन होने के बावजूद उनको नए अवसर प्रदान करता है | नियमित बचत करके महिलाओं को एक व्यवसाय से जुड़ने का मौक़ा देता हैं। जब उचित मात्रा में धन एकत्रित हो जाता है, तब सदस्य अपने उत्पाद के लिए सामग्री खरीदते हैं| इस प्रकार महिलाएँ वित्तीय स्वतंत्रता को ओर पहला कदम उठा पाती हैं ।

मॉडल की एक कड़ी जो समूह को और बेहतर बना सकती है?

व्यापार को सफल बनाने के लिए एक कारगर मार्केटिंग प्रणाली जो समूह के उत्पादों को अधिक से अधिक लोगो तक पहुंचा सके |

आपको किस तरह की ट्रेनिंग मिल सकती है ?

हम जो प्रशिक्षण देते हैं, उस पर एक नज़र:

  1. एक विडीओ एक कहानी- सोशल सहेली से जुड़के आप मोबाइल द्वारा बेहतर वीडियो बनाना सीख सकती हैं जिससे आप नए ग्राहकों को अपने व्यवसाय के बारे में जानकारी दे सकती हैं |
  2. कम्यूनिटी चैम्पियन -चुने हुए चैम्पीयंज़ को अपनी कहानी बताने जा एक अनोखा मौक़ा मिलेगा। महिलाओं को प्रेरित करने के लिए नए उदाहरण बनाने की नियमित रूप में ट्रेनिंग के सकती हैं ।
  3. सोशल मीडिया और सहेली- सोशल सहेली के माध्यम से अपने बिज़नेस को सोशल मीडिया द्वारा मार्किट करने, उचित लोगों तक पहुँचाने और बेचने की ट्रेनिंग ले सकती हैं |
  4. सहेली गुरु- सोशल सहेली के 'सहेली गुरु' प्रोग्राम के माध्यम से आप बिज़नेस जगत के कामयाब लोगो से अपने साथ और अधिक लोगों को जोड़कर अपने व्यवसाय का विस्तार करना सीख सकती हैं|
भागीदार बनें

ये आपके और आपके बिज़नेस के लिए कैसे लाभकारी है ?

क्या आप जानती हैं की दस वर्षों की तुलना में फेसबुक पर चार गुना अधिक नारी प्रधान व्यवसाय के पेज बने हैं? सोशल मीडिया की ताक़त समझ कर उसका सही इस्तेमाल अपने व्यापार को बढ़ाने में लगाया जा सकता है। महिलाओं को ऐसे मंच प्रदान करना बहुत आवश्यक है जहाँ उन्हें अपने विचारों, व्यवसायों और नए विचारों को व्यक्त करने की स्वतंत्रता हो | इससे उन्हें अपने जीवन में निरंतर काम करने की प्रेरणा मिलती है और अपने नियमों से जीवन जीने की आज़ादी भी मिलती है |

भागीदार बनें

आपको क्यों शामिल होना चाहिए?

  1. सोशल सहेली हर महिला को - एक अवसर प्रदान करता है जिससे वह सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी आवाज़ लोगो तक पहुंचा सकती हैं |
  2. अपने उत्पादों को अधिक से अधिक लोगो तक पहुंचा सकती हैं |
  3. अपनी कहानी अन्य महिलाओं तक एक उदाहरण के रूप में प्रस्तुत कर सकती हैं |
भागीदार बनें

कहानियों

सहेली गुरु

अंकिता अवस्थी

अधिक जानिए

अपर्णा मिश्रा

अधिक जानिए

करिश्मा

अधिक जानिए

रनझुन नूपुर

अधिक जानिए

शिखा शाह

अधिक जानिए

सहेलियाँ "व्यवसाय योजना के पीछे" कहानियाँ साझा कर रही हैं। महिलाएं साझा करती हैं कि वे सफलता में कैसे पहुंचीं और उनके सामने आने वाली चुनौतियाँ। आप अपनी कहानी भी साझा कर सकते हैं, बस यहाँ व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें (शामिल हों) या इस नंबर पर कॉल करें 7217892899.

क्योंकि अगला सफल उद्यमी कोई भी हो सकता है। वह आप हो सकते हैं।

संपर्क करें

मीडिया प्रश्नों, साझेदारी या किसी अन्य जानकारी के लिए, ईमेल करें: niharika@pluc.in, info@socialsaheli.com

समाचार में सोशल सहेली

हम उन सभी मीडिया नेटवर्कों की सराहना करते हैं जो हमारे सोशल सेहल्स से प्रेरित हैं, उन्होंने अपनी कहानियों को साझा किया है, और इस परियोजना को कवर किया है।

9 March 2021 | IndiaTimes

Meet 34-Year-Old Diksha, Who Turned Entrepreneur And Now Employs 90 Women In Her UP Village

Read More
9 March 2021 | ABPLive

FYI | कैसे अपनी ज़िन्दगियां बदल रही हैं ये छोटे कस्बों की महिलाएं ? Ep. 75

Read More
2 Febuary 2021 | circle.page

Social Saheli realizing Prime Minister's dream of self-reliant India

Read More
2 Febuary 2021 | Gorakhpur City - 1 News

Social Saheli's are making women aware through tailoring

Read More
2 January 2021 | Oneindia Local Hindi

Social Saheli is realizing Prime Minister's dream of self-reliant India in Gorakhpur, see this news

Read More
8 March 2021 | LiveWire

Social Saheli: How Women Entrepreneurs in UP Are Telling Their Stories Online

Read More
11 March 2021 | Gaon-Connection

स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को डिजिटल मार्केटिंग सिखा रही है 'सोशल सहेली'

Read More
17 March 2021 | Gaon-Connection

Self help groups in Uttar Pradesh learn to use the mobile phone as marketing tool

Read More

Powered by PLUC